Negative thought kaise change kare | नकारात्मक सोच को कैसे बदले?

4
558

Suppose करिए कि आपकी बार-बार एक ही negative thought को सोचने की बुरी आदत है| और suppose करिए, कि असल दुनिया में उस सोच की कोई अभिव्यक्ति नहीं है| वो बस एक नकारात्मक सोच है जैसे “मैं बहुत depressed हूँ” या “मुझे अपनी नौकरी से नफरत है” या “मैं ये नहीं कर सकता” या “मुझे अपने मोटापे से नफरत है” आप किसी बुरी आदत से कैसे छुटकारा पायेंगे जब वो पूरी तरह से आपके दिमाग में हो?

Negative thought

असल में negative thought pattern को बदलने के बहुत सारे तरीके हैं| Basic idea ये है कि पुराने thought pattern को नए से replace कर दिया जाए| मानसिक रूप से नकारात्मक सोच का विरोध करना उल्टा पड़ सकता है| आप इसे और मजबूत करते जायेंगे और स्थिति बदतर हो जाएगी| आप जितना अपने neurons को उसी दिशा में fire करेंगे| आपकी नकारात्मक सोच उतनी ही शशक्त होती जायेगी|

1. अपनी negative thought को एक mental image में बदल लें|

उस आवाज को सुनिए और दिमाग में उसकी एक तस्वीर बना लीजिये For Example यदि आपकी सोच है कि “मैं idiot हूँ” तो कल्पना कीजिये कि आप मूर्खतापूर्ण कपडे पहने और जोकरों वाली टोपी लगाकर इधर उधर कूद रहे हैं| आपके चारो तरफ लोग खड़े हैं जो आपकी तरफ ऊँगली दिखा रहे हैं और आप चिल्ला रहे हैं “मैं idiot हूँ” आप इस scene को जितना बढ़ा चढ़ा कर देखेंगे उतना बेहतर है| चटक रंगों, खूब सारे animation यहाँ तक कि आप कुछ sex से भी सम्बंधित सोच सकते हैं| यदि ये आपको याद रखने में मदद करे| इस scene को बार-बार तब तक practice करते रहिये |

जब तक महज वो negative line सोचने भर से आपके दिमाग में आपकी कल्पना की हुई negative mental image ना आने लगे| यदि आपको उस विचार का चित्रण करने में दिक्कत हो तो आप उसे एक आवाज़ का भी रूप दे सकते हैं| अपनी negative thought को एक आवाज़ में बदल लें| जैसे कि कोई धुन जिसे आप गुनगुनाते हों, इस प्रोसेस follow करने में को चाहे एक sound की कल्पना करें या किसी चित्र की| दोनों ही तरह से ये काम करेगा| वैसे मैं किसी चित्र के बारे में कल्पना करना prefer करता हूँ|

2. उस negative thought को replace करने के लिए कोई powerful positive thought चुनें|

अब decide करिए की negative thought को replace करने के लिए आप कौन सी positive thought चुनेंगे| जैसे कि यदि आप ये सोचते रहते हैं कि “मैं idiot हूँ” तो शायद आप उसे “मैं brilliant हूँ” से replace करना चाहेंगे| कोई ऐसी सोच चुनिए जो आपको कुछ इस तरह से शक्त बनाए कि आप उस negative thought के असर को कमजोर बना पाए|

3. अब अपनी positive thought को एक mental image में बदल लें|

एक बार फिर से Step 1 की तरह ही अपनी positive thought के लिए एक mental image बना लें| जैसे कि उदाहरण में ली गयी सोच “में brilliant हूँ” के लिए आप खुद को Superman की तरह दोनों हाथ कमर पर रख कर खड़ा हुआ होने की कल्पना कर सकते हैं|और आप सोच सकते हैं कि ठीक आपके सर के ऊपर एक बल्ब जल रहा है बल्ब बहुत तेज रौशनी के साथ जगमगा रहा है और आप जोर से चीख रहे हैं “मैं bbbbrrrrrillllliannnnttt हूँ !”. इसकी practice तब तक करते रहिये जब तक महज वो positive line सोचने भर से आपके दिमाग में आपकी कल्पना की हुई positive mental image ना आने लगे|

4. अब दोनों mental images को एक साथ जोड़ दीजिये|

आपने Step 1 और Step 3 में जो mental image सोची है, दोनों को अपने दिमाग में चिपका दीजिये| ये trick chaining नामक memory technique में प्रयोग होती है| इसमें आप पहले चित्र को दुसरे में परिवर्तित कर देते हैं| मेरा सुझाव है कि आप इस एक animated movie की तरह करिए| इसमें आपको पहला (negative picture) और आखिरी (positive picture) scene का अंदाजा है| बस आपको बीच में एक छोटा सा एनीमेशन भरना है|

5. Mental redirect को टेस्ट करना|

अब आपको अपने mental redirect को टेस्ट करना है कि ये काम कर रहा है कि नहीं, ये बहुत हद्द तक HTML redirect की तरह है – जब आप पुराना negative URL input करते हैं| तब आपका दिमाग उसे automatically positive की तरफ redirect कर देता है| Negative thought के दिमाग में आते ही तुरन्त positive thought आपके दिमाग में आ जानी चाहिए| अगर आपने ये सही से practice किया है तो ये automatically होने लगेगा| Negative thought दिमाग में आते ही पूरा का पूरा scene आपके दिमाग में घूम जायेगा| इसलिए आप जब भी ये सोचेंगे कि “मैं idiot हूँ “ भले आप पूरी तरह से आवारा ना हो कि आप ऐसा सोच रहे हैं| आप अंत में खुद को ये सोचता हुआ पायेंगे कि “मैं brilliant हूँ”

अगर आपने पहले ऐसा visualization नहीं किया है तो आपको ये सब करने में कुछ समय लगेगा Speed practice के साथ आएगी| एक बार अभ्यास हो जाने के बाद सारी चीजें सेकेंडों में हो जाएँगी| पहली बार करने में चीजें धीमी गति से होंगी इससे discourage मत होइए किसी भी और skill की तरह इसे भी learn किया जा सकता है,और शायद पहली बार सीखने में ये आपको ये कुछ अटपटा लगे|

SHARE
Hello friends, I'm Founder and CEO of Wikihunt.in, i'm Professional Blogger, SEO Consultant & Writer About Make Money, SEO, Blogging, Health, Gadget etc.

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here