Smart Phone खरीदने से पहले जान लें ये बातें ! 😇

2
400

Smart Phone खरीदने से पहले जान लें ये बातें!  इस तेजी से बदलती दुनिया में आज बिना Smart Phone के लोग अपने दिन की कल्पना नहीं कर सकते। आज के इस दौर में जिस तरह टेक्नोलॉजी विकसित हो रही है Smart Phone का पुराना होते हुए देर नहीं लगती। आपको हर दिन बाजार में एक नया फोन देखने को मिलता होगा और आप मन मे नए फ़ोन लेने की चाहत भी पैदा होती होगी।

Smart Phone

लेकिन कई बार ऐसा होता है कि आप जल्दबाजी या फिर किसी के कहने पर गलत फोन का चयन कर बैठते हैं और फिर बाद में पछताते भी है ।तो आज हम आपको बताने वाले हैं कुछ ऐसे टिप्स जिसकी मदद से आप अपने स्मार्टफोन का चयन बहुत ही बढ़िया तरीके से कर सकते हैं।

पहले जानिए आप अपने Smart Phone में क्या चाहते है !

दोस्तों, सबसे जरुरी और अहम बात यही है कि आप अपने फोन से क्या चाहते हैं? क्या आप एक गेमर है जो दिन रात अपने फोन में गेम खेलना पसंद करते हैं या फिर आप एक फोटोग्राफर है जो अच्छे कैमरा वाले फोन पसंद करते हैं, या फिर आप एक डेली यूज के लिए एक स्मार्टफोन चाहते हैं जो बढ़िया बैटरी बैकअप दे, या फिर आप फिल्म देखने के शौकीन हैं जिन्हें बड़ी स्क्रीन पसंद है। तो इन सब चीजों को देखते हुए ही अपने Smart Phone का चयन करें।

आपका बजट कितना है!

आपकी पसंद के बाद अब बारी आती है आपकी बजट कि आप अपने Smart Phone खरीदने में कितना पैसा लगाना चाहते है । वैसे तो आप जितनी ज्यादा पैसे खर्चा करेंगे उतनी ज्यादा सुविधा वाली फोन आपको मिलेगी। लेकिन आपको स्मार्टफोन खरीदने से पहले एक सटीक प्राइस सेगमेंट देखना होगा। जैसे कि ₹5000 से ₹10000 के बीच के स्मार्टफोन को लौ एन्ड कहा जाता है वैसे ही ₹10,000 से ₹20,000 के बीच के स्मार्टफोन को मिड रेंज स्मार्टफोन ,और 20000 से 40,000 तक के स्मार्टफोन को हाई एंड फलगशिप कहा जाता है।

Processor and RAM

प्रोसेसर और रैम स्मार्टफोन बनाने की अवधि में सबसे अहम पुर्जो में से एक है। प्रोसेसर Smart Phone की जान की तरह होता है। और उसी प्रोसेसर की स्पीड की वजह से आपके स्मार्टफोन की सारी कार्य समय निर्भर करती है। जितना एडवांस आपका प्रोसेसर होगा उतना ही कम समय में आपका कार्य होगा।वैसे तो बहुत सारी कंपनियां मार्केट में प्रोसेसर बना रही है जैसे इंटेल ,हायसिलिकॉन, स्नैपड्रैगन, मीडियाटेक,जाएनोस लेकिन इन सब मे स्नैपड्रैगन और मीडियाटेक ही सबसे ज्यादा प्रचलित है। स्नैपड्रैगन 835 को अभी तक का सबसे फ़ास्ट प्रोसेसर माना गया है। इसके अलावा प्रोसेसर की स्पीड कोर पर भी डिपेंड करती है। ऑक्टा-कोर प्रोसेसर क्वाड-कोर से बेहतर वैसे ही क्वाड-कोर ड्यूल-कोर से बेहतर होगा।

एक और बात आपको यह ध्यान में रखनी होगी कि किसी भी Smart Phone की स्पीड और मल्टीटास्किंग उसके रैम पर निर्भर करती है जितने ज्यादा रैम होंगे उतने ज्यादा एप्लीकेशन को आप एक साथ यूज कर पाएंगे। उदाहरण के तौर पर आप मोबाइल में गाना सुन रहे हैं और उसी के साथ आप नेट भी चला रहे,और साथ मे कुछ डाउनलोड भी कर रहे तो एक साथ हो रहे यह सारे काम आपके रैम मेमोरी को ही यूज कर रहे हैं। आपको अधिक ऐप यूज करना है तो आप 2जीबी या उससे ज्यादा रैम वाले स्मार्टफोन का ही चयन करें।

Camera

अगर आपको स्मार्टफोन खरीदने का मकसद अच्छा कैमरा है तो मेगापीसल, सेंसर ,अपर्चर, रिज़ॉल्यूशन, एलईडी फ्लैश, ऑटोफोकस और वीडियो रिकॉर्डिंग के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर लें। आज के जमाने मे 8.0 मेगापिक्सल का रियर कैमरा को बेसिक फ़ीचर माना जाता है, इससे नीचे का कैमरे तो फोटोग्राफी के लिए बिल्कुल ही बेकार हैं। कोई भी स्मार्टफोन लेने से पहले उस स्मार्ट फोन का कैमरा रिव्यू जरुर देख ले।

अगर आप सेल्फी के शौकीन हैं तो आप को कम से कम 5.0 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा होना लाजमी है। याद दिला दे अच्छा कैमरा होने के लिए सिर्फ मेगापिक्सल ही जरूरी नहीं है बल्कि उसके पीछे यूज किए गए सेंसर कभी बढ़िया होना जरूरी है। आम तौर पे सोनी और सैमसंग का सेंसर अच्छा माना जाता है। और कैमरा में एक और चीज़ ध्यान रखने की जरूरत है लो लाइट फोटोग्राफी के लिए ऑप्टिकल इमेज स्टेबलाइजेशन (ओआईएस) का भी होना जरूरी है।

Storage

प्रोसेसर रैम और कैमरा के बाद बात आती है फोन के स्टोरेज की। ज्यादातर फोन के हैंग होने अथवा स्लो होने का कारण कम इंटरल स्टोरेज है फोन की इंटरनल स्टोरेज जितनी ज्यादा होगी वह उतना बेहतर है। यदि आपके फ़ोन मेमोरी कार्ड को सपोर्ट करता है तो लोगो की जरूरत को देखते हुए फोन में कम से कम 16जीबी इंटरनल स्टोरेज जरूरी है। लेकिन आपके फोन में मेमोरी कार्ड सपोर्टेड ना हो तब आप कम से कम 32 जीबी इंटरनल मेमोरी वाले फोन का हैं चयन करें ।

Battery

स्मार्ट फोन लेने से पहले यह जानकारी प्राप्त कर लें कि आपके फोन में कितने एमएएच की बैटरी है। आज हर स्मार्टफोन में कम-से-कम 3000 एमएएच की बैटरी ज़रूर होती है। तो ऐसे में एक बात का धयान रखें कि लिथियम पॉलीमर बैटरी लिथियम आयन बैटरी से ज्यादा अच्छी होती है। अगर आपको एक तरफ 3000एमएएच की लिथियम आयन की बैटरी मिल रही हो और दूसरे तरफ 3000 एमएएच की लिथियम पॉलीमर बैटरी मिल रही है तो आप लिथियम पॉलीमर बैटरी को ही चुने। लेकिन बहुत सी कंपनियां ऐसी है जो कम दाम में ज्यादा एमएएच की बैटरी दे रही है।ज्यादा एमएएच की बैटरी आपको ज्यादा बैटरी बैकअप देगी । वही अगर आपका स्मार्टफोन फास्ट चार्जिंग को भी सपोर्ट करता है तो यह और भी बेहतर बात है।

Screen or display

मौजूदा समय बाजार में ज्यादातर 4 से 6.5 इंच की स्क्रीन वाले स्मार्टफोन मौजूद है । 4-5 इंच स्क्रीन वाले स्मार्टफोन को बेहतर माना जाता है, इसे हाथों में रखना भी बेहद आसान होता है। अगर आप मूवी देखने ,ज्यादा इंटरनेट सर्फिंग करने, फोटो को एडिट करने में मन लगाते हैं तो आपको 5 से 6.5 फुल एचडी या क़ुआड एचडी डिस्प्ले वाले स्मार्टफोन लेना चाहिए। वैसे यह आप पर निर्भर करता कि आप कैसा स्क्रीन चाहते हैं।

इसके अलावा रेजोल्यूशन भी एक अहम फैक्टर होता है। रेजोल्यूशन कोे आसान शब्दों में समझा जाए तो वह है आपके स्क्रीन पर दिखने वाली इमेज की क्वालिटी । आपको इस बात का भी ध्यान देना है कि रेजोल्यूशन का सीधा असर आपके फोन की बैटरी लाइफ पर भी पड़ता है। ज्यादा रेजोल्यूशन वाले स्क्रीन ज्यादा बैटरी की खपत करते है। इसलिए बहुत सारे डिवाइस में आजकल ओलेड डिस्प्ले या फिर एमोलेड डिस्प्ले का इस्तेमाल किया जा रहा है जो की और किसी डिस्प्ले के मुकाबले 30 परसेंट कम बैटरी की खपत करता है।

तो दोस्तों आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी प्लीज़ हमे Comments कर के जरुर बताये And यार प्लीज़ अपने Whatsapp Facebook Twitter Instagram जहाँ भी जगह मिले बीएस इस पोस्ट को Share करो | एक गरीब का भला हो जायेगा|😋😋😋😋

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here